Click to view this email in a browser
Kanohar Lal Trust Society
ज्ञानोदय विशेषांक  जनवरी २०१३

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

Gyanodyay

63 वें गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर 26 जनवरी 2013 को कनोहर लाल ट्रस्ट सोसाइटी के दो संस्थानों यानि चमेली देवी दुर्गा प्रसाद गर्ल्स डिग्री कॉलेज सौंदा व चमेली देवी दुर्गा प्रसाद स्मारक कन्या इन्टर कॉलेज सौंदा में ज्ञानोदय नामक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। सर्वप्रथम कनोहर लाल ट्रस्ट सोसाइटी के अध्यक्ष दिनेश सिंघल जी ने ध्वजारोहण किया। इसके पश्चात् उन्होंने फीता काटकर प्रदर्शनी का शुभ आरम्भ किया। फिर विभिन्न स्टाल्स पर जाकर विभिन्न विषयों से सम्बंधित स्टाल्स का अवलोकन कर छात्राओ को प्रेरित व प्रोत्साहित किया। छात्राओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि छात्राओं के सर्वागीण विकास के लिए आज के युग में किसी भी विषय को पुस्तकीय ज्ञान के साथ-२ विषय के व्यवहारिक ज्ञान का होना भी आवश्यक है।ऐसे आयोजन छात्राओं को रोजगार के क्षेत्र में भी दिशा निर्देशन दे सकते है। इस प्रदर्शनी में दोनों संस्थानों ने लगभग विभिन्न विषयों से सम्बन्धित १५ स्टाल लगायी। जिसमें ‘चमेली देवी दुर्गा प्रसाद गर्ल्स डिग्री कॉलेज सौंदा’ के शिक्षा संकाय तथा कला संकाय के हिंदी, इंग्लिश, गृहविज्ञान, चित्र कला, संगीत, समाजशास्त्र, अर्थशास्त्र तथा चमेली देवी दुर्गा प्रसाद स्मारक इन्टर कॉलेज सौंदा के कंप्यूटर,गणित व इंग्लिश विषय ने प्रतिभागिता की।
DEPARTMENT OF HINDI, CDDP
  • ‘हिंदी पद्य साहित्य का इतिहास’
  • ‘आवेदन हेतु विभिन्न पत्रों का स्वरूप’
पहली स्टाल के अंतर्गत छात्राओं ने चार्टो व मोडलो के माध्यम से पद्य की साहित्यिक प्रवतियो के सन्दर्भ में पद्य साहित्य के विकासक्रम, प्रत्येक युग में रचित प्रमुख काव्य रचनाओं से सबको परिचित कराया ।साथ ही प्रत्येक युग में अवतरित उन महान कवियों के साहित्यिक व्यक्तित्व कृतित्व से भी अवगत कराया जिन्होंने पध साहित्य को समृद्ध किया। छात्राओं में पध साहित्य को समझने, उसका मूल्याङ्कन करने की द्रष्टि बढ़ाना व् उपेक्षित होती हमारी मात्रभाषा हिंदी के अध्ययन में छात्राओं की रूचि जागृत करना व विषय के महत्व को समझना हिंदी के दूसरे स्टाल का प्रमुख उद्देश्य रहा आवेदन हेतु विभिन्न प्रकार के व्यवहारिक व सरकारी पत्रों को सरल व प्रभावशाली ठंग से लिखने की जानकारी देना।
Teacher Coordinator: Dr. Geeta Tyagi
Students Involved
B.A.I year:- Seema Tyagi, Pooja Tyagi, Renu, Lalita, Moni Taniya, Archana, Komal, Moni, Neha, Kalpana, Akansha, Sushma, Seema
B.A.II year: Manisha, Reshu
B.A.III year: Ruby Sharma, Shikha
DEPARTMENT OF MUSIC, CDDP
  • संगीत के प्रमुख वाद्यों का बदलता स्वरूप
इस शीर्षक के माध्यम से उन्होंने संगीत विषयक छात्राओं को भी संगीत वाद्यों के बदलते स्वरूप को दिखाकर उनमे संगीत का रुझान जाग्रत करने का प्रयतन किया। संगीत में प्रयुक्त नयी तकनीकियाँ जैसे- इलेक्ट्रिक तालमाला, तानपुरा सिथेसाइजर आदि की समुचित जानकारी देकर उनमे संगीत विषय के प्रति रूचि जागृत करने का प्रयतन किया।
Teacher Coordinator:
Upasana Sharma
Student Involved
B.A.II year- Pooja
B.A.III year-
Neha Tyagi, Jyoti Tyagi, Tanu Tyagi, Preeti Sharma, Shalu Tyagi
DEPARTMENT OF ECONOMICS, CDDP
  • ‘भारतीय अर्थव्यवस्था में बेरोजगारी’
अर्थशास्त्र की स्टाल का प्रमुख उद्देश्य छात्रओं को विषय के ज्ञान के साथ-साथ बेरोजगारी भारतीय अर्थव्यवस्था की प्रमुख समस्या है इसके प्रति छात्राओं को जागरूक करना तथा अर्थव्यवस्था में बेरोजगारी की समस्या का समाधान
Teacher Coordinator: Smt. Sangeeta Bansal
Student Involved
B.A.I year- Swati, Shivani, Deepa, Shivani, Babita
B.A.II year-
Swati Tyagi, Deepa, Jyoti, Deepa, Dipakshi, Jyoti, Julie
DEPARTMENT OF DRAWING & PAINTING, CDDP
  • ‘कला अनुभव व रंगों का संगम’
छात्राओं को किताबी ज्ञान,पारम्परिक व्याख्यान व परीक्षा से हटकर एक ऐसा मंच उपलब्ध करवाना जहाँ उन्हें कुछ नया करने व नया सिखने का अवसर प्राप्त हो सके। छात्राओं के अंदर छिपी प्रतिभा को उजागर किया जा सके, यही चित्रकला विषय की स्टाल का प्रमुख लक्ष्य था I
Teacher Coordinator: Renu Tyagi
Student Involved
B.A.I year:- Shakshi Tyagi, Priya Tyagi, Sushma, Chavi, Manju, Swati
B.A.II year:-
Preeti, Soniya, Shikha, Komal, Dolly, Babli
DEPARTMENT OF ENGLISH, CDDP
  • 'What is prose and literary composition included in the prose’
इस प्रदर्शनी में उन्होंने चार्टो के माध्यम से उपन्यासों, निबन्धों, आत्मकथा, जीवनी, संस्मरण, यात्रा वृतान्त एवं लघु कथाओं जैसी विद्याओ को स्पष्ट किया I इंग्लिश की गद्य साहित्य की समुचित जानकारी देना I आज के युग में इंग्लिश के बढ़ते वर्चस्व के कारन उसकी महत्ता पर प्रकाश डालना, इंग्लिश के ज्ञान से छात्राओं के व्यक्तित्व का विकास होकर उन्हें अधिक रोजगार के अवसर प्राप्त हो सकते है I यह बताना इंग्लिश विषय के स्टाल का प्रमुख उद्देश्य
Teacher Coordinator:
Km. Geetanjali
Student Involved
B.A.I year:- Chavi Tyagi, Anchal Tyagi, Priya, Pooja, Reshma
B.A.II year:-
Aarpirani, Prachi, Deepanjali, Deepanjali, Soni, Deepika Jain, Neeti, Rashmi Tyagi, Ayushi, Sonia
DEPARTMENT OF SOCIOLOGY, CDDP
  • ‘सामाजिक परिवर्तन लेन में प्रोद्योगिकी कारको की भूमिका’
कंप्यूटर के प्रति अभिरुचि पैदा करना, कंप्यूटर से होने वाले सायबर अपराध के प्रति छात्राओं को जागरूक करना, प्रोद्योगिकी कासमाज पर पड़ने वाले प्रभाव की जानकारी देना समाजशास्त्र विषय की स्टाल का प्रमुख उद्देश्य रहा।
Teacher Coordinator:
प्रवक्ता व प्राचार्या डॉ० मधु रानी
Student Involved
B.A.I year:- Shalu, Meenu, Kajal, Shakshi, Deepa Aniksha, Chanchal, Mahak, Himanshi, Shabana, Pooja II, Prerna, Reena, Suman, Shalu, Renu, Preeti, Asha, Karuna
DEPARTMENT OF TEACHER EDUCATION, CDDP
  • Teacher Education Origin and Development

The students of B.Ed presented teacher education - origin and development through charts models and live demonstrations in their stall. The education system and teacher education system in different eras like vedic bodh and modern era were exhibited by live demonstrations by which it was shown that how teaching and teacher education was done in these eras. It was also explained that how the different sanskars were performed.
Another aspect which was covered in it was the suggestions and recommendations made by different commission set up by Government of India to improve the standard of education and teacher education in India. It was also shown there that how these suggestions were implemented and what was the impact of these implementations. Demonstrations were also made to explain how UGC , NCTE and NAAC etc are working to improve the quality of teacher education institutes in India.

Teacher Coordinator: Mrs.Richa Srivastava, Dr. Mahendra Singh, Mr. Dhirendra Singh, Ms.Yogita Sharma, Mrs. Sudha Tomar & Ms Manju Yadav
Student Involved:- 90 students of B.Ed.

Chameli Devi Durga Prasad Smarak Kanya Inter College
  Department of Math:-
  आर्यभट Math Magic Stall
इनकी स्टाल का प्रमुख उद्देश्य गणित के प्रति छात्राओं की रूचि जागृत करना व सरल तरीके से गणित के फार्मूले बताना रहा।
Teacher Coordinator:
Smt. Archana
Students involved
Class 8th:
Yukti Tyagi, Surbhi Tyagi, Khushboo, Ekta Goswami, Akhansha Sharma, Sonum Safi, Tabassum, Mahima Chaudryi, Tanu, Shakshi Chaudryi, Tanu Sharma
Class 9th: Priyanka, Ruby, Chavi
Class 10th:
Shivani, Jyoti, Shalini, Sheweta, Anshu, Shakshi, Jiya, Kajal
  Department of Computer:-
  ‘कंप्यूटर के बढ़ते प्रयोग से होने वाली लाभ और हानियों’
विद्यालय के कंप्यूटर विभाग ने जो स्टाल लगायी उसका उद्देश्य कंप्यूटर के बढ़ते प्रयोग से होने वाली लाभ और हानियों पर प्रकाश डालना था।
Teacher Coordinator:
Mr. Mohit Kumar
Students involved
Class 8th:
Surbhi, Shaksi, Varsha
Class 9th: Arti, Sana
Class 10th:
Reena Rani, Priyanka
Class 11th: Priyanka, Shivani, Shalin
  Department of English:-
  “Let’s Learn English”
ग्रामीण अंचल की वे छात्राएं जो इंग्लिश साहित्य व व्याकरण को कठिन समझकर इसके महत्त्व को समझते हुए भी इससे भयभीत रहती है। उनकी हिचक दूर करके यह समझाना की इंग्लिश भाषा सीखना आसान है। निरंतर अभ्यास से इसको आसानी से सीखा जा सकता है। सभी छात्राओं को छोटे-छोटे पुरस्कार के माध्यम से भाषा के अध्ययन के प्रति प्रोत्साहित करना ही इंग्लिश विषय की स्टाल का प्रमुख उद्देश्य रहा।
Teacher Coordinator:
Smt. KusumLata Tyagi, Dr. Smt. Renu Jain
Students involved
कक्षा १० से लेकर कक्षा १२ तक की सभी छात्राओं ने प्रतिभागिता कर उत्साहपूर्वक रूचि व लगन से कार्य किया।
प्रिय पाठकों ,

कुछ तकनीकी समस्याओं के कारण हम ‘संवाद’ का यह अंक समय से प्रकाशित नही कर पाए I आपको होने वाली असुविधा व विलम्ब के लिए हमें खेद है I ‘संवाद’ के पूर्व प्रकाशित अंक अब तक बाह्य संसाधनों की सहायता से प्रकाशित किये जाते रहे थे परन्तु आपको यह जानकर प्रसन्नता होगी कि अब से ‘संवाद’ के सभी अंक पूर्णतया कॉलेज के आन्तरिक संसाधनों द्वारा प्रकाशित किये जायेंगे ,जिससे यह आपके समक्ष समय से उपलब्ध हो पायेगा I
अतः आप से अनुरोध है कि आप भी अपनी सूचनाएं , प्रतिक्रियाएं व सुझाव निर्धारित समय के अन्दर हमें भेजते रहें जिससे ई – पत्रिका में आप के द्वारा भेजी गयी सूचना शामिल की जा सके I
इस अंक की सह संपादिका श्रीमति गीता त्यागी, प्रवक्ता, चमेली देवी दुर्गा प्रसाद गर्ल्स डिग्री कॉलेज है और इसकी तकनीकी रूप रेखा कुमारी प्रीति सिंह, कंप्यूटर प्रवक्ता, त्रिशला देवी कनोहर लाल बालिका इंटर कॉलेज ने बनाई है I

धन्यवाद I

होली की अग्रिम शुभ – कामनाओं के साथ
निवेदिता बंसल
संपादिका